www.poetrytadka.com

tumhara naam duaa rakh diya

माँगना भूल न जाऊँ तुम्हें हर नमाज़ के बाद !
इसलिये मैंने तुम्हारा नाम ‘दुआ’ रख दिया !!

हिन्दी शायरी