www.poetrytadka.com

Tum Sirf Meri Ho

मोहब्बतें और भी बढ़ जाती हैं ज़ुदा होने से !
तुम सिर्फ मेरी हो इस बात का ख़याल रखना !!