www.poetrytadka.com

tujhse koi sikwa nahi

तुझसे हमे कोई शिकायत नहीं है
शिकायत तो हमे अपनी किस्मत से है !
प्यार किया भी तो उसे जिसे कोई फर्क
नहीं पड़ा हमारे जीने या मरने से !!