www.poetrytadka.com

tujhse dooriya chun li maine

खुद के लिए इक सज़ा, मुकर्रर कर ली मैंने !
तेरी खुशियो की खातिर, तुझसे दूरियां चुन ली मैंने !!