www.poetrytadka.com

tuhare pyar me hum

तुम्हारे प्यार में हम बैठें हैं चोट खाए !
जिसका हिसाब न हो सके उतने दर्द पाये !
फिर भी तेरे प्यार की कसम खाके कहता हूँ !
हमारे लब पर तुम्हारे लिये सिर्फ दुआ आये !!