www.poetrytadka.com

tu jhan rhe khush rhe

तू जहाँ रहे बस खुश रहे, चाहे साथ तेरे मैं रहूँ ना रहूँ !
तू रहे आबाद इस जहां मे, चाहे मैं तेरे इश्क मे बर्बाद रहूँ !!