www.poetrytadka.com

TERI YADEN

सिसकियाँ लेता है वजूद मेरा ऐ जान !
नोंच नोंच कर खा गई तेरी यादें मुझे !!