www.poetrytadka.com

teri dosti ki had

तेरी दोस्ती की हद ने ऐसा जुनून बख़्शा !
हम खुद को भूल बैठे तुझे याद करते-करते !!