www.poetrytadka.com

Teri Ada

तेरे होने पर भी खुद को तनहा समझूँ
में बेवफा हु के तुजे बेवफा समझूँ
तेरी बेरुखी से वक़्त तो गुज़र गया हें मेरा
यह खुद्दारी हें तेरी या तेरी अदा समझूँ
तेरे बाद क्या हाल हुआ हें मेरा
ये तेरी इनायत हें या समझूँ
ज़ख़्म देती हो और मरहम भी लगाती हो
यह तेरी आदत हें या तेरी अदा