www.poetrytadka.com

tere naam ko hotho pe sjaya humne

तुम्हारे ‪नाम‬ को ‪‎होंठों‬ पर ‪‎सजाया‬ है मैंने !
तुम्हारी ‪‎रूह‬ को ‪अपने‬ ‪‎दिल‬ में ‪बसाया‬ है मैंने !
‪‎दुनिया‬ आपको ‪#‎ढूंढते‬ ढूंढते हो जायेगी ‪‎पागल !
दिल के ऐसे ‪‎कोने‬ में ‪‎छुपाया‬ है ‪‎मैंने !!