www.poetrytadka.com

tere izhaar me

तेरे इंतजार में तो अब नींद भी गुमशुदा सी हो गयी है !
अगर सपनो में मुलाकात हो सके तो एक लम्हा सो जाऊं !!