Poetry Tadka

Independence Shayari 15 August

independence shayari, independence day shayari, 15 अगस्त शायरी, 15 August Shayari In Hindi, independence shayari In Hindi

न मस्जिद को जानते हैं , न शिवालों को जानते हैं
जो भूखे पेट होते हैं, वो सिर्फ निवालों को जानते हैं

ये पेड़ ये पत्ते ये शाखें भी परेशान हो जाएं !
अगर परिंदे भी हिन्दू और मुस्लमान हो जाएं

मेरा यही अंदाज ज़माने को खलता है.
की मेरा चिराग हवा के खिलाफ क्यों जलता है
में अमन पसंद हूँ, मेरे शहर में दंगा रहने दो
लाल और हरे में मत बांटो, मेरी छत पर तिरंगा रहने दो

independence day best shayari in hindi

गंगा यमुना यहाँ नर्मदा,
मंदिर मस्जिद के संग गिरजा,
शांति प्रेम की देता शिक्षा,
मेरा भारत सदा सर्वदा

independence day photo and shayari

independence day photo and shayari

जहाँ प्रेम की भाषा हैं सर्वोपरि
जहाँ धर्म की आशा हैं सर्वोपरि
ऐसा हैं मेरा देश हिन्दुस्तान
जहाँ देश भक्ति की भावना हैं सर्वोपरि

15 august shayari hindi

15 august shayari hindi

दे सलामी इस तिरंगे को
जिस से तेरी शान हैं,
सर हमेशा ऊँचा रखना इसका
जब तक दिल में जान हैं.

independence day image and shayari

independence day image and shayari

संस्कार और संस्कृति की शान मिले ऐसे,
हिन्दू मुस्लिम और हिंदुस्तान मिले ऐसे
हम मिलजुल के रहे ऐसे की
मंदिर में अल्लाह और मस्जिद में राम मिले जैसे.

independence shayari

कर जस्बे को बुलंद जवान
तेरे पीछे खड़ी आवाम
हर पत्ते को मार गिरायेंगे
जो हमसे देश बटवायेंगे

shayari independence day hindi

मुकम्मल है इबादत और मैं वतन ईमान रखता हूँ,
वतन के शान की खातिर हथेली पे जान रखता हूँ
क्यु पढ़ते हो मेरी आँखों में नक्शा पाकिस्तान का ,
मुस्लमान हूँ मैं सच्चा, दिल में हिंदुस्तान रखता हूँ

independence shayari in hindi

नज़ारे नज़र से ये कहने लगे,नयन से बड़ी चीज कोई नहीं

तभी मेरे दिल ने ये आवाज दी, वतन से बड़ी चीज कोई नहीं

15 august shayari in hindi

15 august shayari in hindi

जिंदगी जब तुझको समझा, मौत फिर क्या चीज है

ऐ वतन तू हीं बता, तुझसे बड़ी क्या चीज है

15 august shayari hindi me

15 august shayari hindi me
priv1next