www.poetrytadka.com

surkh aankho se jab wo dekhte hai

surkh aankho se jab wo dekhte hai

सुर्ख आँखों से जब वो देखते हैं !
हम घबराकर आँखें झुका लेते हैं !
क्यों मिलायें उन आँखों से आँखें !
सुना है वो आँखों से ही अपना बना लेते हैं !!