www.poetrytadka.com

shayro ki basti me

शायरों की बस्ती में कदम रखा तो जाना !
गमों की महफिल भी कमाल की जमती है !!