www.poetrytadka.com

Shayari on intezaar in Hindi

इंतज़ार की आरज़ू  अब खो गयी है 
खामोशियों की अब आदत हो गई है। 
Inzar ki aarzoo ab kho gayai hai
khamoshiyon ki ab aadat ho gai hai.

कौन कहता है वक़्त बहुत तेज़ गुजरता है
तुम कभी किसी का इंतज़ार करके तो देखो.
Kaun kahta hai waqt bahot tez gujarta hai
tum kabhi kisi ka intezar karke to dekho.

Shayari on intezaar in Hindi