www.poetrytadka.com

seene me dilke sath dhadakta rhega ye

साँसों की आँच पाके भड़कता रहेगा ये !
सीने में दिल के साथ धड़कता रहेगा ये !
वो नक्श क्या हुआ जो मिटाऐ से मिट गया !
वो दर्द क्या हुआ जो दबाऐ से दब गया !!