www.poetrytadka.com

rango ke bina zindagi me rang kya hoga

रंगों के बिना जिंदगी में रंग क्या होगा !
तुम नहीं तो जिंदगी का ढंग क्या होगा !
तुम्हारे बिना कटता नहीं इक पल हमारा !
तन्हाईयों से भरी रात का संग क्या होगा !!