www.poetrytadka.com

Pyar ka pahla

फिजा में महकती शाम हो तुम 

प्यार का पहला जाम हो तुम 

और क्या कहे जानम तेरे बारे में 

खर्चे का दूसरा नाम हो तुम !!

pyar ka pahla