www.poetrytadka.com

purani yado ka nishan

ज़ख़्मों को हरा करता है झोंका तेरी यादों का!.
पुरानी यादों के निशां...अब तो मिटा लेने दे !!