www.poetrytadka.com

Naseeb Ka Khel

नसीब का खेल भी अजीब तरह से खेला हमने !
जो न था नसीब में उसी को टूट कर चाह बैठे !!