namumkin hai

barosha shayari namumkin hai

ये ना-मुमकिन है, कोई मिल जाए तुम जैसा,

पर इतना आसान ये भी नहीं ,तुम ढूँढ लो हम जैसा.

Read More