www.poetrytadka.com

Naa jeene ki khwahis naa marne ka gam

Last Updated
ना जीने की खुशी ना मरने का गम बस !
तुमसे की मिलने की दुआ करते है !
हम जीते है इस आस पर कि एक दिन !
तुम आओगे मरते इसलिए नही !
कयोंकि तुम अकेले रह जाओगो !!
naa jeene ki khwahis naa marne ka gam