www.poetrytadka.com

musam hasi hai par tu jaisa nahi

आज कुछ और नहीं बस इतना सुनो !
मौसम हसीन है लेकिन तुम जैसा नहीं !!