www.poetrytadka.com

mujhe maaf kar dena mere khuda

मैं ना जानू इबादत, मुझे माफ़ कर देना ऐ मेरे खुदा !
मैं तो तेरे दर पे आता हूँ, उसकी गली से गुजरने के लिए !!