www.poetrytadka.com

Mujhe aadat nahi

मुझे ‪आदत‬ नहीं यूँ हर किसी पे ‪‎मर‬ मिटने की !
पर तुझे देख कर ‪दिल‬ ने सोचने तक की मोहलत ना दी !!