www.poetrytadka.com

Mohabbat do dilo me

मोहब्बत दो दिलों में जब धडकती है तो
जमाने की आँखों में वो मोहब्बत खटकती है
पर सच्ची मोहब्बत कंहा जमाने की परवाह करती है
हर मुश्किल घड़ी में मोहब्बत तो दो दिलों को और करीब ला देती है
mohabbat do dilo me