www.poetrytadka.com

mohabbat bhi kya chiz hai

आँखों मे आ जाते है आँसू फिर भी लबो पे हसी रखनी पड़ती है !
ये मोहब्बत भी क्या चीज़ है यारो जिस से करते है !
उसीसे छुपानी पड़ती है !!