mohabbat aise karo

hosla bdane wali shayari mohabbat aise karo

खामोशियाँ कर दे बयाँ तो अलग बात है
कुछ दर्द एसे भी है जो लफ्जों में उतारे नहीं जाते

कृपया शेयर जरूर करें

Read More