www.poetrytadka.com

meri nazar se jyada ummid mat rakhna

‪मेरी_नजर‬ से ‪ज्यादा_उम्मीद‬ मत रखना ‪‎पगले !
क्योंकि ‪प्यार‬ से ‪देखने‬ की तो मेरी ‪‎बचपन‬ से ‪आदत‬ है !!