www.poetrytadka.com

meri mout se bani hai

कफ़न न डालो मेरे चेहरे पर !
मुझे आदत है गम में मुस्कुराने की !
रूक जाओ आज की रात न दफनाओ !
मेरी मौत से बनी है मुहूर्त उसके आने की !!
दुख भरी शायरी