www.poetrytadka.com

Meri Chahat

Meri Chahat

तेरी नफरत में वो दम नहीं जो मेरी चाहत को मिटा दे !
मेरी चाहत का समंदर तेरी सोंच से भी गहरा है !!