www.poetrytadka.com

meri aankho ko tlash kis ki

मुझे मालूम नहीं कि मेरी आँखों को तलाश किस की है !
पर तुझे देखूं तो बस मंज़िल का गुमान होता है !!