www.poetrytadka.com

Mera mizaz

Last Updated
मेरे मिज़ाज को समझने के लिये बस इतना ही काफी है !
मैं‬ उसका हरगिज़ नहीं होता जो हर एक का हो जाये !!