www.poetrytadka.com

mai wo kitab hoon

mai wo kitab hoon
मुझको पढ़ पाना हर किसी के लिए मुमकिन नहीं !
मै वो किताब हूँ जिसमे शब्दों की जगह जज्बात लिखे है !!