www.poetrytadka.com

Mahgai ki dour me

सस्ता सा कोई इलाज़ बता दो इस मुहोब्बत का !
एक गरीब इश्क़ कर बैठा है इस महंगाई के दौर मैं !!