www.poetrytadka.com

Magar Pattar

Magar Pattar

मेरी हिम्मत को परखने की गुस्ताखी न करना
पहले भी कई तूफानों का रुख मोड़ चूका हूँ
meree himmat ko parakhane kee gustaakhee na karana
pahale bhee kaee toophaanon ka rukh mod chooka hoon

लोग बदल जाते हैं सच है
मैंने देखा है भरोसा करके
log badal jaate hain sach hai
mainne dekha hai bharosa karake