www.poetrytadka.com

Love Shayari naa jane kyu tujhey

Last Updated

आंसू बहा बहा के होते नहीं हैं कम
कितनी अमीर होती हैं आँखें गरीब की
aansoo baha baha ke hote nahin hain kam
kitanee ameer hotee hain aankhen gareeb kee

तुम हजार बार रूठोगे तो मना लूंगा
मगर मोहब्बत में शामिल कोई दूसरा न होने देना
tum hajaar baar roothoge to mana loonga
magar mohabbat mein shaamil koee doosara na hone dena
 

Love Shayari naa jane kyu tujhey