www.poetrytadka.com

Lamha

जो लम्हा साथ है उसे जी भर के जी लो 

ये ज़िन्दगी भरोसे के काबिल नहीं होती