www.poetrytadka.com

Kuchh Gyan ki Baten

हमको कभी किसी की बुराई 
नही करनी चाहिए क्योंकि 
बुराई हम में भी है और 
जुबान दूसरों के पास भी है।

Kuchh Gyan ki Baten