www.poetrytadka.com

kuch yun huaa

kuch yun huaa

कुछ यूँ हुआ कि.जब भी जरुरत पड़ी मुझे

हर शख्स इतेफाक से.मजबूर हो गया !!