www.poetrytadka.com

KUCH TUMKO BHI AZIZ HAI

कुछ तुम को भी अजीज है अपने सभी उसुल I
कुछ हम भी इत्तेफाक से जीद के मरीज है II