www.poetrytadka.com

kuch log

kuch log

कुछ लोग ऊंचा उठने के लिए किसी भी हद तक गिरने को तैयार हो जाते हैं !!