www.poetrytadka.com

Kuch es ada se toda hai

कुछ इस अदा से तोड़ा है ताल्लुक उस सक्श ने !

कि एक मुद्दत से ढुढ़ रहा हु कसुर अपना !!

सबसे बेस्ट शायरी Click Here