www.poetrytadka.com

koshish aakhri sans tak karni

koshish aakhri sans tak karni

कोशिश" आखरी सांस तक करनी चाहिये !

मंजिल" मिले या "तजुर्बा" चीज़े दोनों ही नायाब है !!