www.poetrytadka.com

Koi tere jaisa na tha

तुझे भूल जाने का हौसला न था, न है, न होगा !
तू जुदा दूर रह का भी न था, न है, न होगा !
तुझसे मिलकर किसी और से क्या मिलना !
कोई तेरे जैसा न था, न है, न होगा !!