www.poetrytadka.com

Koi aur na le

तू मेरा है तेरा नाम कोई और न ले !
इन भीगती आँखों का जाम कोई और न ले !
कुछ इस लिए भी मैंने तेरा हाथ न छोड़ा !
तू गिर गया तो तुझे थाम कोई और न ले !!