www.poetrytadka.com

Kitne Ajeeb Hain

कितने अजीब हैं ये ज़माने के लोग !
खिलौना छोड़ कर जज़्बातों से खेलते हैं !!