www.poetrytadka.com

kisi ko yad karti hoon

किसी को याद करती हूँ किसी को याद आती हूँ !
हों सीने में हज़ारों ग़म मैं फिर भी muskurati हूँ !!