www.poetrytadka.com

khud se roobroo ho lene do

कुछ पल खामोशियों में खुद से रूबरू हो लेने दो यारों !
ज़िन्दगी के शोर में खुद को सुना नहीं मुद्दतों से मैंने !!