www.poetrytadka.com

Khud par bharosa

खुद पर भरोसा और खुद पर विश्वास,
फिर क्या धरती और क्या आकाश।
स्वस्थ रहो और प्रसन्न रहो।
Great thought in hindi